Home Religion 2022 में कृष्ण जन्माष्टमी कब है | Shri Krishna Janmashtami 2022

2022 में कृष्ण जन्माष्टमी कब है | Shri Krishna Janmashtami 2022

कृष्ण जन्माष्टमी 2022 (Krishna Janmashtami 2022) एक वार्षिक हिंदू त्योहार है, यह वह दिन है जब भगवान कृष्ण के जन्म का जश्न मनाया जाता है. हिंदू कैलेंडर के अनुसार, यह कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाता है. यह हिंदू धर्म में एक महत्वपूर्ण त्योहार है. मथुरा और वृंदावन में कृष्ण जन्माष्टमी का बहुत महत्व है. ऐसा कहा जाता है कि भगवान कृष्ण का जन्म मथुरा में हुआ था और उन्होंने अपना बचपन मथुरा और वृंदावन

2022 में कृष्ण जन्माष्टमी कब है

पंचांग के अनुसार, जन्माष्टमी इस बार 2 दिन मनाई जाएगी। पहली 18 अगस्त को होगी जिसे गृहस्थ जीवन जीने वाले लोग मनाएंगे। वहीं 19 अगस्त की जन्माष्टमी साधु-संत मनाएंगे। इस बार जन्माष्टमी काफी खास होने वाली है। क्योंकि इस दिन काफी खास योग बन रहे हैं। इस दिन वृद्धि योग भी लग रहा है। मान्यता है कि जन्‍माष्‍टमी पर वृद्धि योग में पूजा करने से आपके घर की सुख संपत्ति में वृद्धि होती है और मां लक्ष्‍मी का वास होता हे।

2022 में कृष्ण जन्माष्टमी का शुभ मुहूर्त कब है

तिथि- 18 अगस्त 2022, गुरुवार

अष्टमी तिथि प्रारंभ- 18 अगस्त शाम 9 बजकर 21 मिनट से शुरू

अष्टमी तिथि समाप्त- 19 अगस्त रात 10 बजकर 59 मिनट तक

अभिजीत मुहूर्त – 18 अगस्त को दोपहर 12 बजकर 05 मिनट से 12 बजकर 56 मिनट तक।

वृद्धि योग – 17 अगस्त दोपहर 8 बजकर 56 मिनट से 18 अगस्त रात 08 बजकर 41 मिनट तक

ध्रुव योग – 18 अगस्त रात 8 बजकर 41 मिनट से 19 अगस्त रात 8 बजकर 59 मिनट तक

भरणी नक्षत्र – 17 अगस्त रात 09 बजकर 57 मिनट से 18 अगस्त रात 11 बजकर 35 मिनट तक

राहुकाल – 18 अगस्त दोपहर 2 बजकर 06 मिनट से 3 बजकर 42 मिनट तक

निशिथ पूजा मुहूर्त – रात्रि 12 बजकर 20 मिनट से 01:05 तक रहेगा

पारण का शुभ मुहूर्त– 19 अगस्त को रात 10 बजकर 59 मिनट के बाद

कृष्ण जन्माष्टमी का महत्व

कृष्ण भक्त अपने घरों को फूलों, दीयों और रोशनी से सजाते हैं. मथुरा और वृंदावन के सभी मंदिरों में सबसे रंगीन उत्सव होते हैं. भक्त कृष्ण के जीवन की घटनाओं को फिर से बनाने और राधा के प्रति उनके प्रेम को मनाने के लिए रासलीला भी करते हैं.

ट्रेंडिंग