Home Viral 15 अगस्त निबंध इन हिंदी | 15 August Speech in Hindi

15 अगस्त निबंध इन हिंदी | 15 August Speech in Hindi

15 अगस्त 1947 भारत के लिए बहुत भाग्यशाली दिन था। इस दिन अंग्रजों की लगभग 200 वर्ष गुलामी के बाद हमारे देश को आज़ादी प्राप्त हुई थी। भारत को आज़ादी दिलाने के लिए कई स्वतंत्रता सेनानियों को अपनी जान गवानी पड़ी थी। स्वतंत्रता सेनानियों के कठिन संघर्ष के बाद भारत अंग्रजों की हुकूमत से आज़ाद हुआ था। तब से ले कर आज तक 15 अगस्त को हम स्वतंत्रता दिवस मानते हैं।

स्वतंत्रता दिवस (15 august independence day ) पर निबंध कैसे लिखें

भारत में हर वर्ष 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है। प्रत्येक व्यक्ति के लिए स्वतंत्रता का विशेष महत्व होता है इसलिए हर भारतीय के लिए यह दिन बहुत महत्व रखता है। 15 अगस्त 1947 को भारत को अंग्रजों की परतंत्रता के बाद स्वतंत्रता प्राप्त हुई थी। स्वतंत्रता दिवस को हम राष्ट्रीय त्योहार के रूप में मानते हैं।

कई वर्षों के विद्रोहों के बाद ही हमने स्वतंत्रता प्राप्त की और 14 व 15 अगस्त 1947 की मध्यरात्रि को भारत एक स्वतंत्र देश बन गया। इस दिन देश के प्रधानमंत्री जी भारत की राजधानी दिल्ली के लाल किला पर झंडा फहराते है और उसके बाद राष्ट्रगान गाया जाता है और साथ ही 21 तोपों की सलामी भी दी जाती है। उसके उपरान्त प्रधानमंत्री जी लाल किले से पूरे देश को सम्बोधित करते है और स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में वहां और भी बहुत से लोग और बच्चे उपस्थित होते है। स्वतंत्रता दिवस के दिन हमारे सैनिक और एनसीसी कैडेट परेड करते है। परेड, और विभिन्न राज्यों की झांकिया निकाली जाती है तथा बच्चों द्वारा रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किये जाते हैं। प्रधानमंत्री जी के द्वारा दिया गया भाषण तथा लाल किले पर किये जाने वाले सभी कार्यक्रम लाइव (LIVE ) प्रसारण किया जाता है। इस भाषण को पूरा देश अपने रेडियो और टेलीविजन के माध्यम से सुनता है।

15 अगस्त को ही आज़ादी का दिन क्यों चुना गया

15 अगस्त को ही आज़ादी का दिन क्यों चुना गया इसके पीछे भी एक अपनी कहानी है। 1947 में भारत में लार्ड माउंटबेटन को गवर्नर के पद पर नियुक्त किया गया था। 15 अगस्त उनका सौभाग्यशाली दिन था क्योकि इससे पहले 15 अगस्त को ही द्वितीय विश्व युद्ध में जापान ने ब्रिटेन के समक्ष समर्पण किया था। अतः इसलिए लार्ड माउंटबेटन ने पहले से ही 15 अगस्त को भारत की आज़ादी का दिन निर्धारित कर रखा था।

इस दिन सभी सरकारी दफ्तर, कार्यालयों में तिरंगा फहराया जाता है और राष्ट्रगान “जन-गण-मन” गया जाता है। स्कूल, कालेजो में विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है और मिठाइयां बांटी जाती हैं। मंगल पांडे, सुभाषचंद्र चंद्र बोस, भगतसिंह, रामप्रसाद बिस्मिल, रानी लक्ष्मीबाई, महात्मा गांधी, अशफाक उल्ला खां, चन्द्रशेखर आजाद, सुखदेव, राजगुरु आदि कई स्वतंत्रता सेनानियों की कुर्बानियों को याद किया जाता है।

कुछ भारतीय पतंग उड़ा कर तो कुछ कबूतर उड़ा कर आज़ादी मानते हैं। प्रतिवर्ष स्वतंत्रता दिवस मनाना भारत के स्वतंत्रता के इतिहास को जिंदा रखता है और आजादी का सही मतलब लोगों को समझाता है।

स्वतंत्रता दिवस का महत्व

15 अगस्त (स्वतंत्रता दिवस) लोगों में देशभक्ति की भावना पैदा करता है। यह लोगों को एकजुट करता है और उन्हें यह महसूस कराता है कि हम एक राष्ट्र हैं जहां कई अलग-अलग भाषाएं, धर्म और सांस्कृतिक मूल्य हैं। अनेकता में एकता भारत का प्रमुख सारतत्व और शक्ति है। हम दुनिया के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश का हिस्सा होने पर गर्व महसूस करते हैं, जहां सत्ता आम आदमी के हाथ में है। हर साल 15 अगस्त को हम उस दिन को मनाते हैं जब हम एक स्वतंत्र राष्ट्र बन गए, जिसका अर्थ है कि हम खुद पर शासन करने के लिए स्वतंत्र थे और किसी और के द्वारा शासित नहीं थे।

स्वतंत्रता दिवस Independence Day Essay in Hindi 10 lines

  1. स्वतंत्रता दिवस भारत के राष्ट्रीय त्योहारों में से एक है।
  2. यह दिन प्रत्येक भारतीय के लिए गौरव का दिन है।
  3. आज ही के दिन 15 अगस्त 1947 में भारत देश अंग्रेजों की गुलामी से आजाद हुआ था।
  4. 15 अगस्त के दिन प्रधानमंत्री पहले शहीदों के स्मारक पर जाते हैं।
  5. हर वर्ष स्वतंत्रता दिवस के आयोजन के मुख्य अतिथि किसी अन्य देश से बुलाए जाते हैं।
  6. इसके बाद वे लाल किले पर ध्वजारोहण करते हैं और फिर देश वासियों को सम्बोधित करते हैं।
  7. देश की आजादी के लिए कई महान स्वतंत्रता सेनानियों ने अपने प्राणों का बलिदान दिया है।
  8. इस दिन मौके पर लालकिले पर परेड का आयोजन किया जाता है।
  9. 15 अगस्त के दिन स्कूलों में झांकियां निकली जाती हैं।
  10. इस दिन जय हिन्द, वंदेमातरम्, भारत माता की जय, इंकलाब जिंदाबाद के नारों से पूरा देश गूंज उठता है।

स्वतंत्रता संग्राम से संबंधित महत्वपूर्ण तथ्य :-

  • दोस्तों 15 अगस्त को हमारे देश के साथ दुनिया के कई अन्य देश अपना स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं जो की क्रमशः 1945 , 1971 और 1960 में आज़ाद हुए थे। इन देशों के नाम इस प्रकार से हैं –
    • दक्षिण कोरिया
    • बहरीन
    • कांगो
  • दोस्तों क्या आपको पता है जब हमारा देश 15 अगस्त 1947 को आज़ाद हुआ तब तक हमारे देश का कोई भी राष्ट्रगान नहीं था। आपको यह जानकर हैरानी होगी रविंद्रनाथ टैगोर हमारे देश का राष्ट्रगान “जन गण मन” 1911 में ही लिख चुके थे परन्तु देश की संसद के द्वारा 1950 में जन गण मन को राष्ट्रगान के रूप में स्वीकार किया गया।
  • क्या आपको पता है की देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू जी के द्वारा दिया गया ऐतिहासिक भाषण “Tryst with Destiny” 14 अगस्त की मध्य रात्रि को उस समय के वायसराय लॉज (अब राष्ट्रपति भवन) में दिया गया था। उस समय तक नेहरू जी देश के प्रधानमंत्री नहीं बने थे।
  • वैसे तो हर वर्ष 15 अगस्त को लाल किले पर झंडा फहराया जाता है और लाल किले की प्राचीर (Barbican) से प्रधानमंत्री के द्वारा भाषण दिया जाता है। पर 15 अगस्त 1947 को ऐसा नहीं हुआ था उस समय झंडा 16 अगस्त 1947 को फहराया गया था।
  • देश की स्वतंत्रता के समय देश के अंतिम वायसराय का नाम था “लार्ड माउंटबेटेन“। जिन्होनें देश की स्वतंत्रता के समय पंडित नेहरू के साथ आज़ादी के दस्तावेजों पर हस्ताक्षर किये थे।

निष्कर्ष

देश की स्वतंत्रता में हमारे देश के वीरों द्वारा दिए गए योगदान को हमे सदैव स्मरण करते रहना चाहिए और उन्ही के नक़्शे क़दमों पर चलकर हमे हमारे देश की सम्प्रभुता व स्वतंत्रता की रक्षा करते हुए देश के एक जिम्मेदार नागरिक की तरह अपने देश की सेवा में योगदान देना चाहिए

ट्रेंडिंग